Hindi Stories व्रत कथाएँ

Budh Mantra | Budh Beej Mantra | बुध मंत्र

Budh Mantra Budh Beej Mantra बुध मंत्र
Written by admin

बुध अष्टोत्तरशतनामवलिः
🍊 🍊 🍊

☀☀☀☀☀||बुध अष्टोत्तरशतनामवलिः ||☀☀☀☀☀
बुध बीज मन्त्र –

ॐ ब्राँ ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः ||
ॐ बुधाय नमः ||
ॐ बुधार्चिताय नमः ||
ॐ सौम्याय नमः ||
ॐ सौम्यचित्ताय नमः ||
ॐ शुभप्रदाय नमः ||
ॐ दृढव्रताय नमः ||
ॐ दृढफलाय नमः ||
ॐ श्रुतिजालप्रबोधकाय नमः ||
ॐ सत्यवासाय नमः ||
ॐ सत्यवचसे नमः ||१०
ॐ श्रेयसां पतये नमः ||
ॐ अव्ययाय नमः ||
ॐ सोमजाय नमः ||
ॐ सुखदाय नमः ||
ॐ श्रीमते नमः ||
ॐ सोमवंशप्रदीपकाय नमः ||
ॐ वेदविदे नमः ||
ॐ वेदतत्त्वाशाय नमः ||
ॐ वेदान्तज्ञानभास्कराय नमः ||
ॐ विद्याविचक्षणाय नमः ||२०
ॐ विदुषे नमः ||
ॐ विद्वत्प्रीतिकराय नमः ||
ॐ ऋजवे नमः ||
ॐ विश्वानुकूलसंचाराय नमः ||
ॐ विशेषविनयान्विताय नमः ||
ॐ विविधागमसारज्ञाय नमः ||
ॐ वीर्यवते नमः ||
ॐ विगतज्वराय नमः ||
ॐ त्रिवर्गफलदाय नमः ||
ॐ अनन्ताय नमः ||३०
ॐ त्रिदशाधिपपूजिताय नमः ||
ॐ बुद्धिमते नमः ||
ॐ बहुशास्त्रज्ञाय नमः ||
ॐ बलिने नमः ||
ॐ बन्धविमोचकाय नमः ||
ॐ वक्रातिवक्रगमनाय नमः ||
ॐ वासवाय नमः ||
ॐ वसुधाधिपाय नमः ||
ॐ प्रसन्नवदनाय नमः ||
ॐ वन्द्याय नमः ||४०
ॐ वरेण्याय नमः ||
ॐ वाग्विलक्षणाय नमः ||
ॐ सत्यवते नमः ||
ॐ सत्यसंकल्पाय नमः ||
ॐ सत्यबन्धवे नमः ||
ॐ सदादराय नमः ||
ॐ सर्वरोगप्रशमनाय नमः ||
ॐ सर्वमृत्युनिवारकाय नमः ||
ॐ वाणिज्यनिपुणाय नमः ||
ॐ वश्याय नमः ||५०
ॐ वाताङ्गाय नमः ||
ॐ वातरोगहृते नमः ||
ॐ स्थूलाय नमः ||
ॐ स्थैर्यगुणाध्यक्षाय नमः ||
ॐ स्थूलसूक्ष्मादिकारणाय नमः ||
ॐ अप्रकाशाय नमः ||
ॐ प्रकाशात्मने नमः ||
ॐ घनाय नमः ||
ॐ गगनभूषणाय नमः ||
ॐ विधिस्तुत्याय नमः ||६०
ॐ विशालाक्षाय नमः ||
ॐ विद्वज्जनमनोहराय नमः ||
ॐ चारुशीलाय नमः ||
ॐ स्वप्रकाशाय नमः ||
ॐ चपलाय नमः ||
ॐ जितेन्द्रियाय नमः ||
ॐ उदङ्मुखाय नमः ||
ॐ मखासक्ताय नमः ||
ॐ मगधाधिपतये नमः ||
ॐ हरये नमः ||७०
ॐ सौम्यवत्सरसंजाताय नमः ||
ॐ सोमप्रियकराय नमः ||
ॐ महते नमः ||
ॐ सिंहाधिरूढाय नमः ||
ॐ सर्वज्ञाय नमः ||
ॐ शिखिवर्णाय नमः ||
ॐ शिवंकराय नमः ||
ॐ पीताम्बराय नमः ||
ॐ पीतवपुषे नमः ||
ॐ पीतच्छत्रध्वजाङ्किताय नमः ||८०
ॐ खड्गचर्मधराय नमः ||
ॐ कार्यकर्त्रे नमः ||
ॐ कलुषहारकाय नमः ||
ॐ आत्रेयगोत्रजाय नमः ||
ॐ अत्यन्तविनयाय नमः ||
ॐ विश्वपवनाय नमः ||
ॐ चाम्पेयपुष्पसंकाशाय नमः ||
ॐ चारणाय नमः ||
ॐ चारुभूषणाय नमः ||
ॐ वीतरागाय नमः ||९०
ॐ वीतभयाय नमः ||
ॐ विशुद्धकनकप्रभाय नमः ||
ॐ बन्धुप्रियाय नमः ||
ॐ बन्धुयुक्ताय नमः ||
ॐ वनमण्डलसंश्रिताय नमः ||
ॐ अर्केशाननिवासस्थाय नमः ||
ॐ तर्कशास्त्रविशारदाय नमः ||
ॐ प्रशान्ताय नमः ||
ॐ प्रीतिसंयुक्ताय नमः ||
ॐ प्रियकृते नमः ||१००
ॐ प्रियभूषणाय नमः ||
ॐ मेधाविने नमः ||
ॐ माधवसक्ताय नमः ||
ॐ मिथुनाधिपतये नमः ||
ॐ सुधिये नमः ||
ॐ कन्याराशिप्रियाय नमः ||
ॐ कामप्रदाय नमः ||
ॐ घनफलाश्रयाय नमः ||
||इति बुध अष्टोत्तरशतनामावलिः सम्पूर्णम् ||
समाप्त
ॐ बन्धुप्रियाय नमः

Budh Mantra (बुध के लिए मंत्र जाप)
🍊 🍊 🍊

☀☀☀☀☀|| बुध के लिए मंत्र जाप||☀☀☀☀☀
बुध के लिए मंत्र जाप

बुध ग्रह को ग्रहों में राजकुमार की उपाधि दी गई है लेकिन जन्म कुंडली में यदि बुध अशुभ ग्रहों के साथ है तो यह अशुभ होता है और यदि शुभ ग्रहों के प्रभाव में है तो यह शुभ फल प्रदान करता है. ऎसी स्थिति में इस ग्रह पर एक कहावत चरितार्थ होती है जो इस प्रकार है – गंगा गये गंगाराम और जमुना गये जमुनाराम. वैसे बुध को कई महत्वपूर्ण बातों का कारक ग्रह माना गया है जैसे – वाणी का कारक, बुद्धि का कारक, त्वचा का कारक, मस्तिष्क की तंत्रिका तंत्र का कारक आदि. इनके अलावा भी बहुत सी बातों का कारक है लेकिन यह मुख्य कारक है. व्यवसायिक दृष्टि से बुध बिजनेस का भी कारक है.


मनुष्य को कोई भी छोटे से छोटा अथवा बड़े से बड़ा काम करने के लिए बुद्धि तो लगानी ही पड़ती है इसलिए बुध को बली बनाना आवश्यक है. यदि अशुभ है तो उसे शुभ बनाना जरुरी है. इसके लिए बुध के मंत्र जाप करने चाहिए. सुबह अथवा शाम किसी भी समय में बुध के मंत्र जाप किए जा सकते हैं. बुध के मंत्र कई प्रकार है. श्रद्धालुओं को इन्हें अपनी सुविधानुसार करना चाहिए.
बुध का वैदिक मंत्र –
ऊँ उद्बुध्यस्वाग्ने प्रतिजागृहि त्वमिष्टापूर्ते स सृजेथामयं च ।
अस्मिन्त्सधस्थे अध्युत्तरस्मिन्विश्वे देवा यजमानश्च सीदत ।।

बुध का पौराणिक मंत्र –
प्रियंगुकलिकाश्यामं रुपेणाप्रतिमं बुधम ।
सौम्यं सौम्यगुणोपेतं तं बुधं प्रणमाम्यहम ।।
बुध गायत्री मंत्र –
ऊँ चन्द्रपुत्राय विदमहे रोहिणी प्रियाय धीमहि तन्नोबुध: प्रचोदयात ।

बुध के तांत्रोक्त मंत्र –
ऊँ ऎं स्त्रीं श्रीं बुधाय नम:
ऊँ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नम:
ऊँ स्त्रीं स्त्रीं बुधाय नम:

बुध का नाम मंत्र –
ऊँ बुं बुधाय नम:

समाप्त

Budh Mantra (बुध के लिए खास मंत्र)
🍊 🍊 🍊

☀☀☀☀☀|| बुध के लिए खास मंत्र||☀☀☀☀☀

बुधवार को बोलें ये खास मंत्र

बुधवार को बोलें ये खास मंत्र, मिलेगी जबर्दस्त दिमागी ताकत
कामयाबी के लिए अक्ल और ताकत बेहद निर्णायक होते हैं। खासतौर पर आज की रफ़्तार भरी जिंदगी में दिमाग और शक्ति का गठजोड़ व सही उपयोग इंसान को विलक्षण बनाने के साथ ही कामयाबी के ऊंचे मुकाम तक पहुंचा देता है। यही नहीं, इसके बाद भी सफलता की दौड़ में बने रहने के लिए अक्ल और ताकत दोनों को ही बचाए रखना भी जरूरी होता है।


हिन्दू धर्म शास्त्रों में बुध ग्रह को बुद्धि का कारक माना गया है। बुद्धिदाता भगवान गणेश की भक्ति के विशेष दिन बुधवार को बुद्धि बल पाने व दोष दूर करने के लिए बुध ग्रह के मंत्र विशेष का जप बहुत ही अचूक माना गया है।
जानिए बुद्धि को तीक्ष्ण बनाने वाले ऐसे ही अद्भुत किंतु सरल बुध मंत्र व पूजा की सरल विधि –

  • बुधवार को श्री गणेश या नवग्रह मंदिर में बुध या श्री गणेश की प्रतिमा की गंध, फूल, पीले वस्त्र, मीठे पकवानों का भोग और यथाशक्ति दक्षिणा चढ़ाकर पूजा करें। धूप व दीप जलाएं। पीले आसन पर बैठकर नीचे लिखे बुध मंत्रों में से एक या सभी का बुद्धि की शुद्धि की कामना से कम से कम 108 बार चंदन या हल्दी की माला से जप करें –
    ऊँ बुधाय नम:
    ऊँ दुर्बुद्धिनाशनाय नम:
    ऊँ सुबुद्धिप्रदाय नम:
    ऊँ सौम्यग्रहाय नम:
    ऊँ सर्वसौख्यप्रदाय नम:
    ऊँ सोमात्मजाय नम:
  • मंत्र जप के बाद बुध व श्री गणेश की दीप आरती कर क्षमा-प्रार्थना कर प्रसाद ग्रहण करें।

समाप्त
ॐ विदुषे नमः

बुध की शांति के कुछ उपाय
🍊 🍊 🍊

☀☀☀☀☀|| बुध की शांति के कुछ उपाय ||☀☀☀☀☀

बुध की शांति के कुछ उपाय-

१ बुध से पीड़ित व्यक्ति को सप्त बुधवार तक चावल,शहद, सरसों के दाने जो सफ़ेद हो , गोबर व गोरोचन, और नवरी मल्वत को मिश्रित करके नहाना चाहिए |

बुध ग्रह शांति के लिए गाय को हरी घास खिलाना काफी उत्तम है .
कन्या भूर्ण हत्या करने वाले पर बुध ग्रह भारी हो जाता है.

२ बुध पीड़ित जातक को महाविष्णु या अतिविष्णु यज्ञ करना व दूध का दान कांस्य के बर्तन में देना उचित रहता है |

३ अपनी बुद्धि को ताकत देने के लिए बुध यन्त्र को पन्ना में जाडवा कर पहनने से लाभ मिलता है |

४ रत्ती भर सोना बुधवार के दिन नहा धोकर दान करे तो लाभदायक होता है |

५ साबुत मूंग के दाने ग्यारह बुधवार तक एक मुटठी में भरके भीख मांगने
वालो या अपाहिजों को दान करे |

६ बुधवार के व्रत ५,११, या ४३ की संख्या में धारण करे और विधिवत संपन्न करे |

७ मूंग या हरी चीज़े गरीब व मजबूर लोगों को दान करे |

८ ताम्बे के सिक्के में छिद्र करके चलते पानी में प्रवाहित करे |

बुध की शांति के कुछ उपाय

९ पन्ना पहनने से भी लाभ मिलता है यदि पन्ना न उपलब्ध हो तब कली(धातु) पहनना लाभदायक रहता है |

१० छोटी कन्या, बहन, बुआ आदि को सम्मान दे ,सेवा व आदर करे तब उनकी दुआ से ही बुध जनित दोष शांत हो जाते है |

११ कोडियों को पहले जला दे और फिर उन्हें चलते पानी में बहा दे |

१२ यदि बुध कुंडली में उच्च स्तिथि में हो तो बुध सम्बंधित वस्तुओं का दान न करे अगर बुध नीच स्तिथि में हो तो बुध सम्बंधित वस्तुओं का दान किसी से भी नहीं लेना चाहिए |

१३ नपुंसक वर्ग को बुधवार के दिन हरी चूड़ियाँ व हरे कपडे व हरी मिठाई का दान दे जैसे मूंगी के लड्डू आदि |

१४ बुध यदि ज्यादा ही कष्ट दे रहा हो तो श्री विष्णु सहस्त्र नाम का जाप व बुध मंत्र का जप अति उतम उपाय होता है |

१५ प्रतिदिन शालिग्राम जी का पूजन करने के बाद तुलसी के दो पत्ते मुंह में डाल ले और बुध मंत्र का जप करते हुए चबाये, और थोडा पानी पी ले, बहुत लाभ मिलता है |

१६ दुश्मन से छुटकारा और तंत्र कर्मो को नष्ट करने के लिए प्रत्यान्गिरा जप और हवन करने से परेशानियों से तुरंत राहत मिलती है |

१७ व्यावसायिक दिक्कते दूर करने के लिए गोपाल सहस्त्र नाम का पाठ करे व गौपालक श्री कृष्ण जी की पूजा करने से लाभ मिलता है इससे संतान कष्ट से भी मुक्ति मिलती है |

१८ दैहिक परेशानियों को दूर करने के वास्ते महाधान्तिर मंत्र और महामृत्युंजय प्रयोग करना उचित रहता है |

१९ बुध जनित पीड़ा हरण के लिए ११ एकादशी व्रत या बुधवार के व्रत करने से लाभ मिलता है और बुद्ध शांत होते है |

२० ऐसे जातको को जो ज्यादा पूजा पाठ नहीं कर सकते बुध शांति के लिए माँ दुर्गा के शक्ति पीठों की तीर्थ यात्रा करने से लाभ मिलता है और बुधवार के दिन छोटी कन्याओं को खट्टी मीठी गोलियाँ दिला देने से बुद्ध प्रसन्न होते है |

२१ बुध शांति के लिए बुधवार को नहाने के पानी में शहद, गोरोचन, व आंवला मिश्रण करके नहाये तो लाभ मिलता है |

समाप्त
ॐ विदुषे नमः

इन्हे भी पढ़े:-

Final Words:- आशा करता हू कि ये सभी कहांनिया Budh Mantra आपको जरूर पसंद आई होगी । और ये सभी कहानियां और को बहुत ही प्रेरित भी की होगा । अगर आप ऐसे ही प्रेरित कथाएँ प्रतिदिन पाना चाहते हैं तो आप हमारे इस वेबसाइट को जरूर सब्सक्राइब करले जिससे कि आप रोजाना नई काहानियों को पढ़ सके और आपको यह Post कैसी लगी हमें Comment Box में Comment करके जरूर बताए धन्यवाद।

About the author

admin

Leave a Comment

error: Content is protected !!